23 मार्च के दिन ही दी देश के लिए फांसी पर झूल गए थे शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव

23 मार्च के दिन ही दी देश के लिए फांसी पर झूल गए थे शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव

बॉलीवुड में भगत सिंह पर कई फिल्में बनी हैं, जिससे उन्हें याद किया जा सके और युवाओं में देशभक्ती की आग जलती रहे.

शहीद-ए-आजम भगत सिंह (1954) साल 1954 में बॉलीवुड में शहीद भगत सिंह पर आधारित सबसे पहली मूवी बनी थी. इस मूवी का डायरेक्शन जगदीश गौतम ने किया था.

इस फिल्म में प्रेम आबिद, जयराज, स्मृति विश्वास और अशिता मजूमदार मुख्य भूमिका में थे. पहली बार बड़े पर्दे पर लोग भगत सिंह की कहानी को देख पाए थे. 

शहीद भगत सिंह दूसरी फिल्म जो शहीद भगत सिंह पर बनी वो साल 1963 में रिलीज हुई थी. फिल्म को के एन बंसल ने डायरेक्ट किया था. शम्मि कपूर ने फिल्म में भगत सिंह का किरदार निभाया था.

हीद साल 1965 में रिलीज हुई फिल्म शहीद में मनोज कुमार ने भगत सिंह का किरदार निभाया था. एस राम शर्मा द्वारा डायरेक्टेड इस फिल्म को नेशनल अवॉर्ड से भी नवाजा गया था.

द लीजेंड ऑफ भगत सिंह भगत सिंह की शहादत को सलाम करती फिल्म 'द लीजेंड ऑफ भगत सिंह' के कई सारे संवाद दर्शकों के बीच खूब चर्चित हुए. शहीद भगत सिंह की भूमिका में अजय देवगन ने अपने दमदार अभिनय से जान डाल दी.

23 मार्च 1931: शहीद अजय देवगन की 'द लीजेंड ऑफ भगत सिंह' के साथ ही इसी साल बॉबी देओल को लेकर बनी फिल्म 23 मार्च 1931: शहीद भी रिलीज हुई.

शहीद ए आजम साल 2002 में रिलीज हुई इस फिल्म में भगत सिंह की पूरी जिंदगी के बारे में बताया गया जिसे सुकुमार नायर ने डायरेक्ट किया था. फिल्म में सोनू सूद ने भगत सिंह का किरदार निभाया था.

रंग दे बसंती सिद्धार्थ भगत भी 2006 में आई आमिर की फिल्म ‘रंग दे बसंती’ भगत सिंह के रोल में दिखे. साउथ सिनेमा के सुपरस्टार सिद्धार्थ का इस फिल्म ‘मेरी दुल्हन तो आजादी है’ का डायलॉग काफी पसंद किया गया.